प्रकाशन:

       संस्‍था द्वारा अनुसूचित जनजातियों की जीवन संस्‍कति, विकास एवं अन्‍य प्रासंगिक विषयों पर केन्द्रित पुस्‍तकों, अनुसंधान, मूल्‍यांकन, अध्‍ययन संबंधी प्रतिवेदनों के अलावा छ:माही शोध पत्रिका बुलेटिन का प्रकाशन किया जाता हैा अनुसूचित जनजाति के लोगों तथा उनकी जीवन संस्कृति पर आधारित विभिन्‍न छायाप्रतियों के फोलियेां भी प्रकाशित किये जाते हैं जनजातीय अनुसंधान एवं विकास संस्‍था, भोपाल के कुद प्रकाशन बिकी हेतु संस्‍था में उपलब्‍ध है जो निम्‍नानुसार है : -

  1. आदिवासी धरोहर, 2003
  2. गोंडी हिन्‍दी शब्‍दकोश, 2006
  3. कोरकू हिन्‍दी शब्‍दकोश, 2007
  4. भीली हिन्‍दी शब्‍दकोश, 2007
  5. Tribal Stride, 2007
  6. जनजातीय फोलियों 15 प्रकार के, 2009
  7. जनजातीय गोदना: श्रंगार और उपचार, 2012
  8. कोरकू व्‍याकरण, 2013
  9. भीली व्‍याकरण, 2013
  10. Basic Statistics on Scheduled Tribes of Madhya Pradesh  (Part 1-2) 2013
  11. भील जनजातीय समूह के सांस्‍कतिक आयाम, 2015
  12. जनजातीय चित्र शिल्‍प, 2017
  13. अगरिया, 2017
  14. प्रकृति पूजाका पर्व इंदल, 2017
  15. हिरौंदी मुंदरी, 2017
  16. बैगानी हिन्‍दी शबदकोश, 2017
  17. पारम्‍परिक बैगानी गीत, 2017
  18. भिलाली हिन्‍दी शब्‍दकोश, 2017
  19. मध्‍यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियॉ, 2017
  20. बारेली हिन्‍दी शब्‍दकोश, 2017
  21. भीली हिन्‍दी शबदकोश द्वितीय संस्‍करण 2019
  22. कोरकू हिन्‍दी शब्‍दकोश द्वितीय संसकरण 2019
  23. जनजातीय वाद्य, 2020
  24. मवासी हिन्‍दी शब्‍दकोश, 2020
  25. मध्‍यप्रदेश की औषधीय वनस्‍पतियॉ, 2020
  26. गोंड पेटिंग, 2020
  27. संग्रहालय प्रादर्श, 2020
  28. परम्‍परागत जनजातीय बॉस शिल्‍पकला, 2020
  29. मवासी जनजाति के परम्‍परिक लोक गीत, 2021
  30. मध्‍यप्रदेश के जनजातीय नृत्‍य, 2021
अंतिम बार अपडेट किया:16 Nov, 2021